Almora Uttarakhand

अल्मोड़ा : सांसद टम्टा ने करगिल शहीदों के शौर्य को किया नमन

Spread the love

अल्मोड़ा। करगिल दिवस समारोह शहीद स्मारक छावनी क्षेत्र में आयोजित किया गया। वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण शौर्य दिवस समारोह सीमित संख्या के आधार पर आयोजित किया गया। करगिल शहीदों की स्मृति में शहीद स्मारक छावनी परिषद पर माल्यार्पण, पुष्पांजलि एवं पुष्पचक्र अर्पित किये गये। इस दौरान दो मिनट का मौन रखा गया।
इस अवसर पर सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री अजय टम्टा ने करगिल विजय दिवस (शौर्य दिवस) पर शहीद स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने भारतीय सेना के अदम्य साहस व शौर्य को नमन करते हुए कहा कि उत्तराखण्ड में सैनिकों की वीरता व बलिदान की लंबी परम्परा रही है। देश की आजादी से पहले एवं आजादी के बाद उत्तराखंड के वीर सपूतों ने देश की रक्षा के लिए महत्वपूर्ण योगदान रहा है। करगिल युद्ध में बड़ी संख्या में उत्तराखण्ड के सपूतों ने देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहूति दी।
इस अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी ने कहा कि करगिल के युद्ध में शहीद हुये सैनिकों की याद में आज शौर्य दिवस को पूरे भारत वर्ष में मनाया जाता है। उन्होंने सभी शहीदों को नमन करते हुये कहा कि हमें ऐसे वीर शहीदों पर हमेशा गर्व रहेगा जो अपने प्राणों की बाजी लगाकर भारत माता की रक्षा करते हैं। इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पीएन मीणा, अपर जिलाधिकारी बीएल फिरमाल, अध्यक्ष पूर्व सैनिक लीग ऑ. कैप्टन दीपक टम्टा ने भी अपने विचार रखे और शहीदों को श्रंद्धाजलि अर्पित की। इस अवसर पर सैनिटरी निरीक्षक छावनी परिषद राजेश बिष्ट, सावित्री देवड़ी पत्नी लॉ. नायक स्व. हरीश देवड़ी, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी प्रकाश चन्द्र मासीवाल, पूरन सिंह मेहता, पूरन चन्द्र लोहनी, महेन्द्र सिंह मेहरा, राजकुमार बिष्ट, हेमन्त लाल वर्मा, देवेन्द्र कुमार, मनोज सिह नगरकोटी एवं जनपद के पूर्व सैनिक आदि उपस्थित थे। इस शौर्य दिवस (कारगिल दिवस) के अवसर पर सावित्री देवड़ी को मुख्य अतिथि द्वारा शॉल भेंट कर सम्मानित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *