Nainital Uttarakhand

नैनीताल: उद्योगपति डॉ. गिरजा ने एक और रत्न पाया, एशियाई फुटबॉल कंफेडरेशन के बने सदस्य

Spread the love

नैनीताल। सरोवर नगरी के मूल निवासी उद्योपति डॉ. गिरिजा शंकर मुनगली जो कि पुणे में रहते हैं। उन्होंने अपनी कीर्ति में एक और रत्न जोड़ा है। एशिया महाद्वीप में फुटबॉल की सबसे बड़ी संस्था एशियाई फुटबॉल कंफेडरेशन ने उन्हें अपनी सात सदस्यीय टास्क फोर्स का सदस्य मनोनीत किया है। भारत के सभी फुटबॉल संघों और फुटबॉल क्लबों ने इस उपलब्धि के लिए उन्हें बधाई दी है। डॉ. मुनगली इससे पूर्व इंडियन फुटबॉल लीग में अनेक पदों पर रह चुके हैं।
तल्लीताल कैंट के भवानी लॉज में पले-बढ़े डॉ. मुनगली की शिक्षा गवर्नमेंट हाई स्कूल (गोरखा लाइन) और देब सिंह बिष्ट महाविद्यालय से हुई। उसके बाद वे सेना में चले गए। सेना से सेवा निवृत्ति के बाद उन्होंने उद्योग में कदम रखा और दो दशक में ही अनेक उपलब्धियां हासिल कीं। वे रियल एस्टेट क्षेत्र में सक्रिय हैं। वे उत्तराखंड में भी अपना कारोबार बढ़ाने के लिए उत्सुक हैं। पिछले दिनों कुमाऊंनी शब्द श्रृंखला के लिए सुपरिचित उद्घोषक हेमन्त बिष्ट ने उनका कुमाऊंनी में ऑनलाइन इंटरव्यू किया था। नैनीताल के इस सुपुत्र की उपलब्धि पर लोगों ने शुभकामनाएं देते हुए बधाई दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *